जानिए लोन की EMI का भुगतान न करने पर क्या होगा

जानिए लोन की EMI का भुगतान न करने पर क्या होगा

यदि आप एक के बाद एक कई ईएमआई का भुगतान नहीं करते हैं तो आपको लोन देने वाला आपको डिफॉल्टर के रूप में रिपोर्ट कर सकता है।

लेकिन आपको उनमें से कुछ आपको भुगतान करने के लिए कुछ समय भी देते हैं।

अगर एक तारीख पर आप भुगतान करना भूल गए हैं, तो यह आपको डिफॉल्टर नहीं बना देगा।  

लेकिन यदि आप एक के बाद एक कई ईएमआई का भुगतान नहीं करते हैं तो आपको लोन देने वाला आपको डिफॉल्टर के रूप में रिपोर्ट कर सकता है। 

इससे आपको अपना क्रेडिट स्टेटस सुधारने का एक मौका मिलता है।  

इसके लिए सभी बैंकों और एनबीएफसी से उम्मीद रहती है कि वह भुगतान न होने पर उसकी रिपोर्ट सिबिल (CIBIL) और इक्विफैक्स जैसे क्रेडिट ब्यूरो को दें।  

रिपोर्ट होने के बाद, यह आपके सिबिल स्कोर को गंभीर रूप से कम कर देगा

और इससे आपके लिए भविष्य में किसी भी प्रकार का क्रेडिट/लोन प्राप्त करना कठिन हो जाएगा। 

आपलोगों को बता दूँ यदि आप पर्सनल लोन में  सह-हस्ताक्षरकर्ता या गारंटर हैं, तो समय पर भुगतान न होने पर आपके क्रेडिट स्कोर पर भी उसका प्रभाव पड़ेगा।  

इसके अलावा, उन्हें लोन राशि की वसूली के प्रयास करने की कड़ी में लोन देने वाले और रिकवरी एजेंट्स के कॉल लगातार आते रहेंगे। 

इसकी वजह से लेट फीस, पेनल्टी, कानूनी लागत, जैसे खर्च अनसेटल्ड लोन बैलेंस में जुड़ जाते हैं, जिससे आपने जो लोन लिया था, उसके मुकाबले भुगतान की जाने वाली राशि बहुत अधिक हो जाती है।  

यदि बैंक आपसे लोन नहीं ले  पाती है तो बैंक को कानून का सहारा लेना पड़ता है। 

वैसे आप रीपेमेंट करने के लिए लोन देने वाले से अधिक समय देने का अनुरोध कर सकते हैं।  

अगर कुछ भी काम नहीं करता है, तो आप बैंक से सेटलमेंट का अनुरोध कर सकते हैं।